उत्तरमुखी या दक्षिणमुखी दुकान का वास्तु ठीक करके अपनी आय बढ़ाएं

Share on:

Vastu of North Facing or South Facing Shop: आज हम इस पर चर्चा करेंगे कि कैसे वास्तु के सिद्धांतों का उपयोग करके उत्तरमुखी या दक्षिणमुखी दुकानों का सही नक्शा बनाया जाए जिससे की दुकान की आय बढ़ाई जा सकती है।

वास्तु शास्त्र, भारतीय परंपरा का एक प्राचीन और महत्वपूर्ण हिस्सा, न केवल घरों बल्कि व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के निर्माण और लेआउट के लिए भी महत्वपूर्ण दिशानिर्देश प्रदान करता है।

Vastu For North Facing or South Facing Shop आपको बताता है कि किस दिशा की दुकान में क्या परिवर्तन करके दुकान से ज्यादा लाभ लिया जा सकता है।

Vastu For North Facing Shop: उत्तरमुखी दुकान का वास्तु

Fb Img 1701491171232 Jpg
उत्तरमुखी या दक्षिणमुखी दुकान का वास्तु ठीक करके अपनी आय बढ़ाएं 4

यदि आपकी दुकान उत्तरमुखी है, तो वास्तु शास्त्र के अनुसार, आपकी दुकान के दक्षिणी हिस्से को, जो कि दुकान के एक तिहाई भाग के बराबर हो, एक स्टेप ऊंचा करना अत्यंत लाभदायक हो सकता है। यह साधारण लेकिन प्रभावशाली उपाय

आपकी दुकान की आय को कई गुना बढ़ा सकता है।

vastu for south facing shop: दक्षिणमुखी दुकान का वास्तु

Fb Img 1701491163818
उत्तरमुखी या दक्षिणमुखी दुकान का वास्तु ठीक करके अपनी आय बढ़ाएं 5

इसके विपरीत, यदि आपकी दुकान दक्षिणमुखी है, तो इसके उत्तरी हिस्से को, जो कि फिर से दुकान के एक तिहाई भाग के बराबर हो, दुकान के शेष फर्श से लगभग 6 इंच नीचे रखना सुझाया जाता है। यह व्यवस्था आपकी व्यावसायिक सफलता के लिए शुभ मानी जाती है और आर्थिक समृद्धि ला सकती है।

Avatar

एस्ट्रोलोजर शिव सोनी लाल किताब ज्योतिष के विशेषज्ञ है। जैसलमेर न्यूज हिंदी पर ज्योतिष, अध्यातम, वास्तु शास्त्र और धर्म कर्म से संबधित विषयों पर लिखते है।

Recommend For You