रंजनीकान्त की बायोग्राफी

Share on:

This post has already been read 25 times!

Rajinikanth Biography In Hindi: आज के समय में एक या दो नहीं बल्कि कई सारे ऐसे अभिनेता हैं जो कि अपने अभिनय की वजह से बहुत ज्यादा प्रसिद्ध हो चुके हैं और कई सारे अभिनेता हैं जिन्होंने अपने अभिनय से हर किसी के दिलों में अपनी जगह बना ली है और देश और दुनिया में अपनी एक अलग पहचान भी बना ली है।

ऐसे में सबसे पहला नाम रजनीकांत का ही आता है इसकी मुख्य वजह है कि शायद ही कोई व्यक्ति ऐसा होगा जो कि रजनीकांत को नहीं जानता होगा और आपको जानकर हैरानी होगी कि रजनीकांत ना सिर्फ हमारे देश में ही प्रसिद्ध है बल्कि सारे जगत में इनके चर्चे होते हैं।

उन्होंने अपने अभिनय की वजह से इतना ज्यादा नाम कमाया है, कि आज छोटा से छोटा बच्चा भी इनका नाम और उनके अभिनय को पसंद करता है, हालांकि यह एक दक्षिणी फिल्मों के सुपरस्टार हैं लेकिन हिंदी फिल्में हर कहीं पर देखी जाती हैं और हर कोई इनकी फिल्मों को पसंद करता है।

अगर आपको भी रजनीकांत और रजनीकांत का अभिनय बहुत ज्यादा पसंद है तो जरूर से आपके मन में भी रजनीकांत से जुड़े कई सारे सवाल होंगे जिनको आप भी जाने के लिए व्याकुल हो रहे होंगे तो आज हम आपको अपने लेख की सहायता से Rajinikanth Biography In Hindi से जुड़ी हर एक छोटी सी छोटी जानकारी आपके साथ सांझा करने की कोशिश करेंगे।

रजनीकांत की बायोग्राफी: Rajinikanth Biography In Hindi

Rajinikanth Biography In Hindi
नामशिवाजी राव गायकवाड
जन्म12 दिसम्बर 1950
जन्म स्थानबंगलौर
उपलब्धितमिल अभिनेता, निर्माता
पितारामोजीराव गायकवाड
पिता का प्रोफेशनपुलिस कांस्टेबल
मातारामबाई
पहली फिल्मअपूर्वा रागंगाल
पत्नीलता
बेटियांऐश्वर्या, सौंदर्या

अगर हम एक सफल व्यक्ति की बात करें तो एक या दो नहीं बल्कि कई सारे ऐसे व्यक्ति हैं जो कि जमीन से उठकर आसमान तक पहुंच गए और उन्होंने इतनी ज्यादा सफलता हासिल की कि आज के समय में उनको हर कोई जानता है लेकिन जब बात हम रजनीकांत की करते हैं तो इन्होंने इतना ज्यादा संघर्ष किया है और इतनी ज्यादा मेहनत की है कि आज भी शायद ही इतना अच्छा कलाकार और इतनी दर्द भरी कहानी किसी की होगी।

हम लोग अंदाजा भी नहीं लगा सकते कि इन्होंने कितना ज्यादा संघर्ष किया होगा आपको जानकर हैरानी होगी कि इन्होंने अपने करियर की शुरुआत कारपेंटर से की थी और देखते-देखते उन्होंने कई सारे छोटे-छोटे कार्य भी किए और फिर आज इतनी ज्यादा ऊंचाइयों पर पहुंच चुके हैं कि आज शायद ही कोई होगा जो कि इनको नहीं जानता होगा और जिसने इनकी फिल्में नहीं देखी होगी।

रजनीकांत जीवन परिचय

Rajinikanth Biography In Hindi

इनका जन्म 12 दिसंबर 1950 को बैंगलोर में हुआ था, इनके पिता जी का नाम रामोजीराव गायकवाड है, जो की एक पुलिस कांस्टेबल थे, इनकी माता का नाम रामबाई था जो की एक ग्रहणी है और इनका परिवार मराठी पृष्ठभूमि से है।

इन्होंने अपनी माता को मात्र 5 वर्ष की उम्र में ही खो दिया था और इनके 5 भाई बहन थे जिनमे ये सबसे छोटे थे और इनकी पारिवारिक स्थिति बिल्कुल भी अच्छी नही थी जिस वजह से इनको बहुत संघर्ष करना पड़ा।

रजनीकांत शिक्षा

इनकी शुरुवाती शिक्षा गाविपुरम गवर्नमेंट कन्नड़ मोर्डन प्राइमरी स्कूल से हुई है, इनको बचपन से पढ़ना बहुत पसंद था और इनको पढ़ने में बहुत ज्यादा रुचि थी, जिस वजह से यह बहुत होशियार छात्र भी थे।

इनकी बुद्धिमता को देखते हुए इनका दाखिला रामकृष्ण मठ में कर दिया गया, जिसका संचालन रामकृष्ण मिशन के जरिए होता है। इनको सांस्कृतिक कार्यों में रुचि थी जिस वजह से यह अक्सर सांस्कृतिक प्रोग्राम में हिस्सा लिया करते थे।

इनकी आगे की शिक्षा आचार्य पाठशाला पब्लिक स्कूल से हुई है, इसके बाद से इन्होंने नाटक में भाग लेना शुरू किया।

रजनीकांत का संघर्षपूर्ण जीवन

Rajinikanth Biography In Hindi

जैसा की मेने आपको पहले भी बताया है की इनकी कहानी बहुत ज्यादा अलग है और साथ में इन्होंने बहुत ज्यादा संघर्ष किया है और इनकी शिक्षा पूरी होते ही इन्होंने कारपेंटर की नौकरी की, कुली की नौकरी की और इसी बीच में बैंगलूर ट्रांसपोर्ट सर्विस की भर्ती निकाली जिसमे सफलतापूर्वक रजनीकांत को नौकरी मिली।

इनकी आर्थिक स्थिति में बदलाव हुआ लेकिन इनकी यह कंडक्टर की नौकरी इनको बड़े मुकाम तक नही पहुंचा सकती थी, जिस वजह से इन्होंने अपने अभिनय और कला को रोका नही बल्कि हर रोज यह अपने अभिनय को बेहतर बनाने का प्रयास करते थे।

इनकी बात करने का तरीका कर किसी को पसंद आता था क्योंकि यह अपने यात्रियों से इतने अच्छे से बात किया करते थे की हर यात्री खुशी खुशी पूरी यात्रा का आनंद लेता था और फिर यह कई सारे अभिनय प्रोग्राम में भी हिस्सा लिया करते थे।

रजनीकांत से जुड़े रोचक तथ्य

  • यह एक परोपकारी व्यक्ति है जो की अक्सर सामाजिक कार्यों में दान किया करते है।
  • रजनीकांत को लोग प्यार से थलाईवा कहकर पुकारते है।
  • आपको जानकर हैरानी होगी की मराठी होने के बावजूद भी इन्होंने सिर्फ एक ही मराठी फिल्म में काम किया है।
  • रजनीकांत की सफलता की शुरवात चिलकम्मा चेप्पिन्डी से हुई थी, इन्होंने इस फिल्म में अपने अभिनय से सभी के दिलो में अपनी जगह बना ली थी।
  • रजनीकांत जी के. बालाचंदर को अपना गुरु माना करते है।
  • रजनीकांत अक्सर सिर्फ विलेन की किरदार में ही देखने को मिलते थे।

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने आपको Rajinikanth Biography In Hindi के बारे में डिटेल में जानकारी देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है, की हमारे द्वारा दी गयी जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को हमारे इस आर्टिकल से जुड़ा हुआ कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट में बता सकते है।