रस्किन बॉन्ड की बायोग्राफी

Share on:

This post has already been read 22 times!

Ruskin bond biography in Hindi: आज हम इस आर्टिकल के द्वारा आपको “रस्किन बॉन्ड की बायोग्राफी”(Ruskin bond biography in Hindi) के बारे में जानकारी देने वाले हैं। इसके लिए आपको हमारा पूरा आर्टिकल ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा तो आइए जानते हैं रस्किन बॉन्ड के जीवनी के बारे में जानकारी…

Ruskin bond biography in Hindi – बच्चों के प्रसिद्ध लेखक रस्किन बॉन्ड 84 साल के हो चुके हैं। रस्किन बॉन्ड एक ऐसे लेखक है जो बच्चों की कहानियों को अपनी कल्पनाओं से बहुत सुंदर और सुनहरे पंख दे कर एक नया स्वरूप दे देते हैं। इसकी वजह से बच्चों को उनकी लिखी हुई कहानियां बहुत ही मनोरंजक दायक लगती हैं।

बचपन में आपने कभी ऐसी कहानियां सुनी होगी या फिर आपके दादा नाना ने आपको कहानी सुनाई होगी। वही सब कहानियां प्रसिद्ध लेखक रस्किन बॉन्ड कुछ मजेदार तरीकों से लिखते हैं। रस्किन बॉन्ड अपनी मजेदार और रोचक कहानियों उपन्यासों के द्वारा बच्चों का मनोरंजन जब करने लगे और उनको कहानियां सुनाने लगे तो सभी बच्चे उनको अपने दादाजी के रूप में ही देखने लगे।

रस्किन बांड ने बच्चों के लिए ही हजारों लघु कथा निबंध उपन्यास और किताबें हिंदी में लिखी थी। इनको सन 1999 में पद्मश्री और 2014 में पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था।

 तो आज इनके जीवन के बारे में संपूर्ण जानकारी इस आर्टिकल के द्वारा आप सभी को हम बताने जा रहे हैं। रस्किन बॉन्ड का जीवन परिचय, रस्किन बॉन्ड की बायोग्राफी,      रस्किन बॉन्ड की शिक्षा, Ruskin bond biography in hindi,अवार्ड, पारिवारिक परिचय इन सभी का वर्णन इस आर्टिकल के द्वारा देने जा रहे हैं…

रस्किन बॉन्ड की बायोग्राफी: Ruskin bond biography In Hindi

Ruskin bond biography in hindi
नामरस्किन बॉन्ड
जन्मतिथि19 मई 1934
जन्म स्थानशिमला
धर्मइसाई
विवाहअविवाहित
राष्ट्रीयताभारतीय
शिक्षाबिशप कॉटन स्कूल से
वर्तमान निवासमंसूरी

रस्किन बॉन्ड का जीवन परिचय

रस्किन बॉन्ड अंग्रेजी भाषा के एक बेहतरीन लेखक के रूप में जाने जाते है। इनका जन्म 19 से 1934 को हिमाचल प्रदेश के कसौली प्रांत में हुआ था।

 रस्किन के पिता रॉयल एयरफोर्स में अफसर थे। जब यह 4 साल के थे । उस समय पर इन के माता और पिता दोनों का तलाक हो गया था। उनके तलाक के बाद मां ने एक हिंदू लड़के से शादी कर ली। इनका बचपन अधिकतर जामनगर, शिमला में ही व्यतीत हुआ है। सन 1944 में इनके पिता की मृत्यु होने के बाद में यह अपनी दादी के साथ में रहने लग गए। उस समय इनकी उम्र लगभग 10 साल की थी।

रस्किन बॉन्ड की एजुकेशन

रस्किन बांड ने अपनी पढ़ाई शिमला से ही बिशप कॉटन स्कूल से पूरी की थी। उसके बाद वह आगे की पढ़ाई के लिए लंदन चले गए थे। रस्किन को बचपन से ही पढ़ने लिखने का बहुत शौक था। पढ़ाई में अधिक रूचि होने की वजह से बांड कॉलेज तक भी आते जाते एक लेखक बन गए थे। उन्होंने बहुत से अवार्ड जीते।

रस्किन ने 17 साल की उम्र में पहला उपन्यास “रूम ऑन दी रूफ़ लिख” दिया था। इसके लिए सन 1957 में जॉन लिवेलिन राइस पुरुस्कार से भी इन को सम्मानित किया गया था। इंग्लैंड में ये पुरस्कार 30 साल से कम उम्र के कॉमनवेल्थ नागरिक को अंग्रेजी लेखन के लिए मिलता है।

रस्किन बांड का पारिवारिक परिचय

माता का नामआमरे बांड
पिता का नामएडिथ क्लर्क
भाईविलियम
बहनएलेन
शादीअविवाहित
व्यवसायलेखक
डेब्यू बुकछत की वापसी

मूल रूप से रस्किन बॉन्ड भारतीय लेखक के रूप में ही जाने जाते हैं। रस्किन भारत में बच्चों को साहित्य की शिक्षा देने के लिए उन को बढ़ावा देने हेतु बहुत प्रसिद्ध है। रस्किन के माता-पिता का तलाक होने के बाद में यह बिल्कुल अलग हो गए थे। माता ने हिंदू लड़के से शादी कर ली। पिता की मृत्यु होने के बाद में यह बिल्कुल अकेले हो गए थे।

 पढ़ाई लिखाई के लिए इनको एकांत का वातावरण बहुत पसंद था। इनका बचपन बहुत संघर्षपूर्ण निकला है। इन्होंने सन 1951 में 16 साल की उम्र में पहली लघु कहानी अछूत लिखी। रस्किन बॉन्ड कभी शादी नहीं की थी माता-पिता के अलग होने के बाद पिता की मृत्यु होने के बाद में यह अपने दत्तक परिवार के साथ में ही रहने लग गए थे।

रस्किन बांड के कैरियर की शुरुआत

Ruskin bond biography in hindi

रस्किन बॉन्ड का बचपन बहुत संघर्ष के साथ में व्यतीत हुआ है। अपने कामों के प्रकाशन के कार्य के लिए भी कुछ समय के लिए एक फोटो स्टूडियो में काम किया। इन्होंने बहुत कम उम्र से ही लघु कथा, कहानी लिखना शुरू कर दिया था। इन्होंने समाचार पत्रों में पत्रिकाओं में लघु कथाएं और कविताएं लिखी। इस वजह से यह लेखक के रूप में बहुत प्रसिद्ध हो गए।

 उसके बाद निबंध और अलग-अलग पत्रिकाओं में भी इनके लेखन प्रकाशित हुए थे। उनमें से “द पायनियर, द लीडर, द ट्रिब्यून, द टेलीग्राफी प्रमुख थे। इन्होंने 4 साल तक एक ही पत्रिका का संपादन कार्य भी किया था।

रस्किन के सबसे प्रसिद्ध उपन्यासों में सन 1980 में प्रकाशित हुआ “ब्लू अंब्रेला” था। लेखक के रूप में इनकी बढ़ती हुई लोकप्रियता ने सभी का ध्यान इनकी तरफ खींच लिया था। रस्किन का लेखन के क्षेत्र में कैरियर लगभग 5 दशकों तक फैल गया था। इसमें उन्होंने विभिन्न शैलियों जैसे कल्पना, गैर कल्पना, आत्मकथा, लघु निबंध, रोमांस और बच्चों की किताबें इत्यादि पर काम किया।

रस्किन बॉन्ड की स्टोरीज

रस्किन बांड ने रवींद्रनाथ टैगोर, रोडयार्ड किपलिंग, चार्ल्स डिकेंस जैसे लेखकों को पसंद करने वाले रस्किन ने अब तक 500 से अधिक कहानी उपन्यास संस्मरण और बहुत सी कविताएं लिखी हैं। इनमें से ज्यादातर तो बच्चों के लिए लिखी है जो आज भी पढ़ाई लिखाई में आती है।

रस्किन बॉन्ड का बॉलीवुड के साथ कनेक्शन

रस्किन बॉन्ड की बहुत सी कहानियों पर बॉलीवुड में फिल्में बन चुकी हैं। इनमें शशि कपूर की फिल्म जुनून सन 1978 में आई हुई शामिल है। यह फिल्म बॉन्ड की प्रसिद्ध किताब “ए लाइट ऑफ पिजन” पर इस फिल्म की कहानी आधारित है । इनको “ब्लू अंब्रेला” विशाल भारद्वाज के द्वारा बनाई गई। इस फिल्म की कहानी के लिए भी कई पुरस्कार मिले थे। विशाल की दूसरी फिल्म में इनकी कहानी ‘susanna’s seven husbands’ हिंदी कहानी पर आधारित 7 खून माफ फिल्म बनाई है। इस फिल्म अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा ने भी काम किया।

रस्किन बांड के आविष्कार

जॉन लेवेलिन राइज अवार्डसन 1957
साहित्य अकादमी अवार्डसन 1992
पद्मश्री अवार्डसन 1999
पद्म भूषण अवार्ड2014
लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड2017

रस्किन बॉन्ड को सन 1992 में अंग्रेजी लेखन के लिए लघु कहानियों के संकलन पर साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। सन 1999 में बाल साहित्य के योगदान में उनको पद्मश्री से सम्मानित किया जा चुका है। शौक के तौर पर लेखन का काम करने वाले रस्किन बॉन्ड लंदन में रहने के बाद भी भारत के सभ्यता संस्कार बिल्कुल नहीं भूल पाए हैं। वर्तमान समय में ट्रक इन मंसूरी के पास लैंडोर में रहते हैं।

रस्किन बॉन्ड की हॉबीज

पसंदीदा लेखकविलियम वर्ड्सवर्थ, हेनरी डेविड थोरो, एंटोन चेकोव, अर्नेस्ट बेट्स, एमिली ब्रोंटे, ग्राहम ग्रीन
फेवरेट बुकलुईस कैरोल द्वारा एलिस इन वंडरलैंड, एमिली ब्रोंटे द्वारा वुथरिंग हाइट्स
फेवरेट पैलेसपांडिचेरी
शौकपढ़ाई और खेल देखना

निष्कर्ष

आज हमने आपको इस आर्टिकल के द्वारा “रस्किन बॉन्ड की बायोग्राफी(Ruskin bond biography in Hindi)” के बारे में जानकारी प्रदान किए हैं। हम उम्मीद करते हैं कि आपको जो भी जानकारी इस पोस्ट में दिए वह आपको जरूर पसंद आएगी। अगर आपको हमारी जानकारी अच्छी लगी तो इसको अधिक से अधिक लाइक शेयर कीजिए और इससे जुड़ी किसी भी अन्य समस्या के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके बता सकते है।