साइना नेहवाल की बायोग्राफी

Share on:

This post has already been read 588 times!

Saina Nehwal Biography In Hindi:आज के समय में साइना नेहवाल के बारे में कौने नहीं जानता है, साइना नेहवाल हमारे देश के लिए खेलने वाली एक महान खिलाड़ी है। साइना नेहवाल भारत के लिए खेलने वाली एक बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। इन्होंने अपने बैडमिंटन की शुरुआत 2004 से की थी। तब से लेकर अब तक साइना नेहवाल बैडमिंटन में एक बहुत ही लोकप्रिय खिलाड़ी के रूप में जानी जाती हैं। भारत में बैडमिंटन की लोकप्रियता बढ़ने का कारण भी साइना नेहवाल को ही दिया जाता है।

इन्होंने अपने बैडमिंटन के करियर में कई सारे अवार्ड, पदक और सम्मान हासिल किए हैं। वे भारत के लिए तीन बार ओलंपिक भी खेली है। और आज के समय में लोगों के लिए एक प्रेरणा के रूप में उभरतीं है। साइना नेहवाल को भारत के टॉप टेन बैडमिंटन खिलाड़ियों में से एक माना जाता है। यदि आप साइना नेहवाल के बारे में और अधिक जानना चाहते हैं, तो हमारे इस आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहे। क्योंकि आज हम आप सभी को अपने आर्टिकल के जरिए साइना नेहवाल का जीवन परिचय और Saina Nehwal Biography In Hindi इससे जुड़ी हुई बहुत सारी बातों के बारे में बताएंगे। तो आइए बिना समय गवाएं इसके बारे में जानते हैं।

 साइना नेहवाल का जीवन परिचय : Saina Nehwal Biography In Hindi

Saina Nehwal Biography In Hindi
  • पूरा नाम       –       साइना नेहवाल
  • जन्म              –     17 मार्च, 1990
  • जन्म स्थान    –       हिसार, हरियाणा
  • पिता             –    हरवीर सिंह
  • माता का नाम –    उषा रानी
  • हाईट            –    1.65 मीटर
  • वजन           –     60 kg
  • पेशा            –         अंतर्राष्ट्रीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी
  • कोच का नाम –     विमल कुमार

साइना नेहवाल जो कि एक इंडियन खिलाड़ी है, उनका जन्म 17 मार्च सन 1990 को हिसार नामक स्थान पर हरियाणा में हुआ था। साइना नेहवाल हरियाणा में रहने वाले एक जाट परिवार में पैदा हुई थी। उनके पिता का नाम हरवीर सिंह और उनकी माता का नाम उषा रानी है। साइना नेहवाल के पिता एक एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में काम किया करते थे और उनकी माता को पहले से ही बैडमिंटन में रुचि रही हैं, यही कारण है कि वह एक राज्य स्तर की बैडमिंटन खिलाड़ी थी।

साइना ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा हरियाणा के हिसार स्थान से ही शुरू की थी। परंतु उनके पिता एक एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी में कर्मचारी थे, जिसके कारण उनका ट्रांसफर होते रहता था। उनके पिता के ट्रांसफर के चलते उन्हें स्कूल भी बदलना पड़ता था। साइना ने अपने 12वीं की पढ़ाई हैदराबाद के संत एनस कॉलेज मेह्दिपत्नाम से कंप्लीट किया था।

साइना शुरू से ही एक शांत और शर्मीली स्वभाव की लड़की थी। और उन्हें पढ़ाई में भी काफी अच्छी रूचि थी। साइना नेहवाल की रुचि पढ़ाई के साथ-साथ अलग-अलग तरह के कामों में भी था। साइना नेहवाल ने अपने पढ़ाई के समय में कराटे भी सीखे थे, जिसमें उन्होंने ब्राउन बेल्ट हासिल किया था।

साइना नेहवाल का बैडमिंटन खिलाड़ी बनने का सफर

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि साइना नेहवाल की माता भी एक स्टेट लेवल की चैंपियन थी। आपको बता दें कि साइना नेहवाल के माता-पिता दोनों ही स्टेट लेवल पर बैडमिंटन खेला करते थे। और साइना नेहवाल का एक बैडमिंटन खिलाड़ी बनने का सफर भी उनके माता-पिता द्वारा ही शुरू हुआ था। साइना नेहवाल को बैडमिंटन की प्रतिभा उनके माता-पिता द्वारा ही मिली हैॅ। वे बड़ी कम उम्र से ही बैडमिंटन में रुचि रखती थी।

साइना के पिता अपनी बेटी को एक अच्छा बैडमिंटन प्लेयर बनाना चाहते थे, इसी कारण उन्होंने साइना नेहवाल को करीबन 8 साल की छोटी उम्र में ही बैडमिंटन सिखाने का फैसला कर लिया था। और वे उन्हें हैदराबाद के लाल बहादुर स्टेडियम में बैडमिंटन सीखने के लिए भेज दिए, जहां पर उनकी कोच के रूप में “नानी प्रसाद जी” थी जिनके अंडर में साइना बटमिंटन सीखा करती थी।

साइना के पिता अपनी बेटी की अच्छी ट्रेनिंग के लिए हर मुमकिन कोशिश करते थे, यहां तक कि उन्होंने अपनी जमा राशि खर्च करने की भी परवाह नहीं की थी। साइना का ट्रेनिंग स्टेडियम उनके घर से करीबन 25 किलोमीटर दूर था और उनके पिता उन्हें रोज सुबह 4:00 बजे स्कूटर से छोड़ा करते थे, और वहां 2 घंटे प्रैक्टिस के बाद साइना स्कूल भी जाया करती थी।

अपने बैडमिंटन के प्रैक्टिस को जारी रखते हुए साइना ने एसएम आरिफ नामक ट्रेनर द्वारा ट्रेनिंग लेना शुरू किया, जो कि देश के जाने-माने खिलाड़ियों में से एक हैं। और उन्हें द्रोणाचार्य अवार्ड से भी सम्मानित किया गया है। इसी तरह आगे बढ़ते हुए साइना ने हैदराबाद के पुल्लेला गोपीचंद अकैडमी जॉइन किया, जहां उन्होंने गोपीचंद नामक ट्रेनर द्वारा ट्रेनिंग हासिल की। इसी तरह साइना ने अपने जीवन में लगातार मेहनत किया है, और अभी के समय में साइना नेहवाल एक सफल खिलाड़ी के रूप में जानी जाती हैं।

साइना नेहवाल के अचीवमेंट और अवार्ड

Saina Nehwal Biography In Hindi

साइना नेहवाल ने अपने जीवन में काफी मेहनत किए हैं, जिसके कारण आज भी एक अच्छे मुकाम पर हैं। साइना नेहवाल हमारे भारत देश में एक जाने-माने बैडमिंटन खिलाड़ी के रूप में जाने जाते हैं। साइना नेहवाल के वजह से ही आज के समय में भारत में बैडमिंटन का खेल इतना प्रसिद्ध हुआ है। और इन्हीं के वजह से भारत में भी बैडमिंटन लीग का आयोजन किया जाने लगा है।

साइना नेहवाल से ना सिर्फ लड़कियां बल्कि लड़के भी काफी प्रेरित हुए हैं। अभी के समय में साइना ने बैडमिंटन के खेल को एक नया मुकाम दिया है। साइना के इन्हीं सब अचीवमेंट के कारण उन्हें कई सारे अवार्ड से सम्मानित भी किया गया है, जो कि निम्नलिखित है-

1. साइना नेहवाल को सन 2008 में सबसे होनहार खिलाड़ी का सम्मान बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन द्वारा दिया गया है।

2. सन 2009-10 में उन्हें ‘राजीव गाँधी खेल रत्न’ सम्मानित किया गया है।

3. सन 2009 में उन्हें अर्जुन अवार्ड से सम्मानित किया गया और इसी क्रम में सन 2010 में भारत के चौथे सबसे बड़े सम्मान पद्मश्री से सम्मानित किया गया है।

4. साइना नेहवाल को सन 2016 में भारत के तीसरे बड़े सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया गया है।

साइना नेहवाल से जुड़ी रोचक बातें

Saina Nehwal Biography In Hindi

साइना नेहवाल से जुड़ी हुई रोचक बातें निम्नलिखित हैं-

1. साइना नेहवाल एक बैडमिंटन खिलाड़ी होने के साथ-साथ एक सुंदर लड़की भी थी, जिसके कारण उन्हें कई सारे मॉडलिंग के ऑफर भी आते थे।

2. साइना नेहवाल एक बैडमिंटन खिलाड़ी होने के साथ-साथ योनेक्स, सहारा इंडिया जैसे कई कंपनियों कि ब्रांड एंबेसडर भी हैं।

3. साइना की दादी उनके जन्म से ही नाखुश थी, क्योंकि वह एक लड़की नहीं बल्कि एक लड़का चाहती थी।

4. साइना एक अच्छी बैडमिंटन खिलाड़ी होने के साथ-साथ कराटे चैंपियन भी हैं, जिसमें उन्होंने ब्राउन बेल्ट भी हासिल किया है।

5.साइना टेनिस स्टार ‘स्टेफी ग्राफ’ की बहुत बड़ी फैन हैं, इसी कारण उनकी मां उन्हें ‘सेफ्टी साइना’ के नाम से बुलाती थी।

6. सन 2005 में साइना अंडर-19 राष्ट्रीय टीम में टूर्नामेंट खेलने के लिए चुनी गई थी और वह उस टूर्नामेंट की विजेता भी बनी थी।

7. साइना नेहवाल ने ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक भी हासिल किए हैं।

8.सन 2018 में साइना नेहवाल ने अपनी ऑटोबायोग्राफी रिलीज की थी, जिसका नाम ‘प्लेयिंग टू विन : माय लाइफ ऑन एंड ऑफ कोर्ट’ है।

9. सन 2016 में साइना अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक कमिटी के एथलीट कमीशन के सदस्य के रूप में नियुक्त हुई थी।

10. साइना फार्च्यून कुकिंग आयल, इंडियन ओवरसीज बैंक, वैसलीन, टॉप रेमन नूडल्स, सहारा एवं योनेक्स जैसे कई सारे विज्ञापनों में भी नजर आती है।

11. साइना नेहवाल ‘विमेंस हेल्थ एवं फेेमिना’ जैसे मैगजीन के कवर पेज पर भी नजर आती हैं।

निष्कर्ष

साइना नेहवाल हमारे देश की शान को बढ़ाने वाली एक महान खिलाड़ी हैं। आज हमने आप सभी को अपने इस आर्टिकल के जरिए साइना नेहवाल का जीवन परिचय और Saina Nehwal Biography In Hindi इससे जुड़ी हुई कुछ रोचक बातों के बारे में बताने का प्रयास किया है। उम्मीद है कि आप सभी को हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा, और आप सभी को हमारे इस आर्टिकल के जरिए साइना नेहवाल के जीवन परिचय के बारे में काफी अच्छी जानकारी प्राप्त हुई होगी।