विलियम शेक्सपियर की बायोग्राफी

Share on:

विलियम शेक्सपियर की जीवनी(William Shakespeare biography in Hindi): 16 वी सदी के एक जाने-माने अंग्रेजी कवि नाटककार और अभिनेता विलियम शेक्सपियर के बारे में आज हम आपसे बात करने जा रहे हैं आपने अक्सर ही शेक्सपियर का नाम जरूर सुना होगा। यह अंग्रेजी भाषा के सबसे महान लेखक और विश्व के पूर्व प्रख्यात नाटककार के रूप में व्यापक रह चुके हैं।

शेक्सपियर को इंग्लैंड का राष्ट्रीय कवि कहा जाता था और उनका उपनाम बार्ड ऑफ एवन, इसी के साथ इन्होंने 38 नाटक 154 सनट्स 2 लंबी कथा कविता और कुछ छंद भी लिखे हैं। इन्होंने लगभग 1700 अंग्रेजी के शब्दों का उत्पादन किया है। आज इस आर्टिकल में हम आपको विलियम शेक्सपियर की जीवनी(William Shakespeare biography in Hindi)के बारे में संपूर्ण बातें बताने जा रहे हैं।

विलियम शेक्सपियर का जीवन परिचय : William Shakespeare biography in Hind

William Shakespeare biography in Hindi
पूरा नामविलियम शेक्सपियर
जन्म26 अप्रैल 1564
जन्म स्थानइंग्लैंड के स्ट्रेटफोर्ड अपॉन एवन
राष्ट्रीयताब्रिटिश
पेशानाटककार अभिनेता
प्रसिद्धिसबसे महान लेखक

26 अप्रैल 1564 को इंग्लैंड के स्ट्रैटफोर्ड अपऑन एवं शहर में विलियम शेक्सपियर का जन्म हुआ था। हालांकि इनकी सही जन्मतिथि किसी को ज्ञात नहीं है यह रिकॉर्ड चर्च के रिकॉर्ड के अनुसार ही पता चला है। इनके पिताजी एक लोकल व्यापारी थे जिनका नाम जॉन शेक्सपियर था। इसी के साथ वह स्ट्रैटफोर्ड की सरकार में जिम्मेदार पद पर आयोजित भी थे और 1569 में उन्होंने मेयर के रूप में भी कार्य किया था। उनकी माताजी मैरी शेक्सपियर एक पड़ोसी गांव के धनी जमीदार की बेटी थी। इनके माता-पिता की आठ संताने थी उनमें से विलियम शेक्सपियर तीसरे नंबर के थे और उनके पिताजी अपने माता पिता के सबसे बड़े पुत्र थे।

विलियम शेक्सपियर का पारिवारिक परिचय

William Shakespeare biography in Hindi
पिताजी का नामजॉन शेक्सपियर
माता का नाममेरी शेक्सपियर
भाई और बहनएडमंड शेक्सपियर जोआन शेक्सपियर गिलबर्ट शेक्सपियर मार्गरेट शेक्सपियर एनी शेक्सपियर रिचार्ड शेक्सपियर
पत्नी का नामएनी हथावे
बच्चों के नामसुंसना हॉल, हेमनेट शेक्सपियर, जुडिथ कुइनी

विलियम शेक्सपियर के स्कूल के वर्षों की जानकारी मौजूद नहीं है। अनुमान के अनुसार स्ट्रैटफोर्ड ग्रामर स्कूल अटेंड किया और क्लास सिक्स लेटिन ग्रामर ऑल साहित्य का अध्ययन किया। ऐसा भी कहा जाता है कि आर्थिक रूप से उन्होंने अपने पिता की मदद करने के लिए 13 साल में ही पढ़ाई छोड़ दी थी।

विलियम शेक्सपियर का व्यक्तिगत जीवन

विलियम शेक्सपियर ने परंपरा के अनुसार एनी हथावे के साथ शादी की उस समय विलियम की उम्र 18 साल थी और एनी 26 साल की थी। वह विलियम से 8 साल बड़ी थी। उनकी शादी के 6 महीने बाद उनकी बेटी हुई जिसकी शादी जॉन हॉल से हुई। इसके बाद उनके दो जुड़वा बच्चे हुए उसमें से एक बच्चे की मृत्यु 11 साल में हो गई और दूसरे बेटे की शादी थॉमस कुनिई से हुई इस तरह से शेक्सपियर के 3 बच्चे हुए थे।

विलियम शेक्सपियर का व्यवसाय

William Shakespeare biography in Hindi

1592 में शेक्सपियर एक अभिनेता के रूप में उभरे और उन्होंने वहां से काम करना शुरू किया और लंदन में अपने भूगोल संस्कृति और विविध व्यक्तित्व के बारे में लिखने के लिए पर्याप्त समय विविध आया। ऐसा भी कहा जाता है कि पहले नाटक को 1592 से पहले या उसके आसपास लिखा गया था जिसमें बार्ड के नाटक में सभी 3 मुख्य नाटक शैलियों को शामिल किया गया था। त्रासदी टाइटल्स एंड्रॉनिकस कॉमेडी वेरोना के दो सज्जन द कॉमेडी आफ एरर्स और द टाइमिंग ऑफ द शुरू और इतिहास हेनरी VI त्रयी और रिचर्ड III शेक्सपियर के कई अलग-अलग थिएटर कंपनियों से जुड़े होने की संभावना भी थी। जब यह शुरुआती काम लंदन के मंच पर शुरू हुए थे।

इसके बाद 1594 में उन्होंने एक मंडली के लिए लेखन और अभिनय शुरू किया था जिसे लाड चेंबर लेंस के नाम से जाना जाता था। इसके बाद घर के नाटककार बन गए थे और 1599 में पौराणिक ग्लोब्टियर की स्थापना की गई थी और अन्य सदस्यों के साथ भागीदारी हुई।

विलियम शेक्सपियर के प्रसिद्ध नाटक

1590 से लेकर 1612 तक शेक्सपियर ने 37 से अधिक नाटक लिखे थे। जिनमें से बहुत सारे प्रसिद्ध नाटक भी शामिल है जैसे कि रोमियो एंड जूलियट, ए मिडसमर नाइट्स ड्रीम, हेमलेट, किंग लियर, मैकबेथ और द टेंपेस्ट एक नाटककार के रूप में उन्हें पंचपदी पधारे के लगातार उपयोग के लिए और सरल शब्द खेल के लिए भी जाना जाता था।

शेक्सपियर को गैर नाटिकिये के योगदान के लिए भी बहुत ज्यादा याद किया जाता है। उनके अपनी पहली कथा कविता प्रकाशित की कामुक विनस और एडोनिस जो साउथेम्प्टन एयर अपने करीबी दोस्त हेनरी व्रियोथलसे को दिलचस्प रूप से समर्पित किया। इस टुकड़े के कई पुनर मुद्रण और दूसरी कविता द रेट ऑफ लुयुक्र्स संकेत देते हैं कि उनके जीवनकाल के दौरान चारण मुख्य रूप से उनकी कविता के लिए भी प्रसिद्ध थे। शेक्सपियर का प्रसिद्ध सोनट्स गाथा कापरेन संग्रह और कामुकता से लेकर सच्चाई और सुंदरता के विषयों को संबोधित किया है। संभव है इसके लेखक की सहमति के बिना यह 1609 में छपा था।

विलियम शेक्सपियर की मृत्यु

विलियम शेक्सपियर के काम में 1623 से पहले फोलियो से छपे 36 नाटक शामिल है जिन्हें उनके फॉलियो वर्गीकरण के अनुसार हास्य इतिहास और त्रासदियों के रूप में सूचीबद्ध किया गया है। पहले फोलियो में शामिल नहीं किए गए दो नाटक द नोबल किनसमैन एंड पेरिकल्स प्रिंस ऑफ टायर को अब कैनन के हिस्से के रूप में स्वीकार किया जाता है। आज के विद्वान इस बात से सहमति जाहिर करते हैं कि शेक्सपीयर ने प्रमुख योगदान दिया दोनों को लिखने के लिए।

1623 में विलियम शेक्सपियर के दो पूर्व सहयोगियों ने उनके नाटक का एक संग्रह प्रकाशित किया जिसे आमतौर पर पहले पोलियो के रूप में ही जाना जाता था। इसके अलावा शेक्सपियर के बारे में जाना जाता है कि उन्होंने इतिहास में किसी भी अन्य लेखक की तुलना में अंग्रेजी भाषा को अधिक प्रभावित किया था और ऐसे नियम और वाक्यांश जो अभी भी रोजमर्रा की बातचीत में नियमित रूप से उपयोग किए जाते हैं। उदाहरण के लिए फैशनेबल, पाखंडी, नेत्र गोलक इत्यादि शब्द शामिल है।

विलियम शेक्सपियर की उपलब्धियां

शेक्सपियर ने ज्यादा लंबी उम्र नहीं जी थी। हालांकि उन्होंने अपने छोटे से जीवन में बहुत कुछ हासिल किया था। शेक्सपियर के पास अद्भुत उपलब्धियों की एक अंतहीन सूची सम्मिलित है। उदाहरण के लिए अंग्रेजी भाषा वैसी नहीं होती जो आज है अगर शेक्सपियर का अस्तित्व नहीं होता वह साहित्य को वर्तमान में आकार देने में एक महान भूमिका निभा चुके हैं। इसीलिए वह विश्व स्तर पर जाने जाते हैं इसका मतलब है विलियम शेक्सपियर सर्वकालिक सर्वश्रेष्ठ नाटककार माने जाते हैं। उनके समय में नाटक लिखने में सक्षम होना भी एक उपलब्धि थी क्योंकि वहां अनपढ़ लोगों की संख्या ज्यादा थी।

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको विलियम शेक्सपियर (William Shakespeare biography in Hind) के बारे में कम से कम शब्दों में जानकारी दी है और उनके जीवन के बारे में बताया है। उम्मीद करते हैं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा।