DMIT Test क्या होता है?

Share on:

DMIT Test, यानी डर्माटोग्लिफिक्स मल्टीप्ल इंटेलिजेंस टेस्ट (DMIT Full Form “Dermatoglyphics Multiple Intelligence Test”) एक वैज्ञानिक तरीका है जिसमें व्यक्ति की उंगलियों के निशानों का अध्ययन करके उनकी प्रतिभा, योग्यताओं और बौद्धिक क्षमताओं का पता लगाया जाता है।

इसमें डर्मेटोग्लिफिक्स (Dermatoglyphics) के सिद्धांतों का इस्तेमाल होता है, जो मानव की त्वचा के पैटर्न, विशेष रूप से उंगलियों, हथेलियों और पैरों के तलवों के निशानों का अध्ययन है।

DMIT Test किसलिए किया जाता है?

DMIT Test का उपयोग आमतौर पर करियर गाइडेंस, शैक्षिक परामर्श, और व्यक्तित्व विकास में किया जाता है।

इस टेस्ट के माध्यम से, व्यक्ति की विभिन्न प्रकार की बुद्धिमत्ताओं जैसे कि संगीत, गणितीय, भाषाई, अंतर्वैयक्तिक आदि के बारे में जानकारी मिलती है।

यह जानकारी उन्हें अपने करियर और शिक्षा में सही निर्णय लेने में मदद कर सकती है।

DMIT Test की वैज्ञानिक मान्यता

हालांकि, यह ध्यान देना महत्वपूर्ण है कि DMIT Test की वैज्ञानिक मान्यता और प्रमाणिकता को लेकर कुछ विवाद भी हैं, और इसकी प्रभावशीलता पर विभिन्न विशेषज्ञों की राय भिन्न हो सकती है।

Categories GK
Avatar
           Dilip Soni

About Journalist Dilip Soni: दिलीप सोनी वरिष्ठ पत्रकार और मीडिया एक्सपर्ट है, द जैसलमेर न्यूज और जयपुर न्यूज टुडे के संस्थापक और मुख्य संपादक है।

Recommend For You