सिद्धू मूसे वाला की बायोग्राफी

Share on:

This post has already been read 53 times!

Sidhu Moose Wala Biography In Hindi: पंजाबी सिंगर सिद्दू मूसे वाला अपने जीवन में कई प्रयासों के पश्चात एक लोकप्रिय सिंगर की उपाधि हासिल करते हुए भारत में अपनी लोकप्रियता बनाई थी। लेकिन छोटी सी उम्र में आपसी दुश्मनी की वजह से उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया पंजाबी सिंगर सिदु मुसेवाला पंजाब का रहने वाला एक लोकप्रिय सिंगर था।

जिन्होंने अपने जीवन में हमेशा सकारात्मक भावनाओं पर विश्वास करते हुए आगे बढ़ने की सोची थी। लेकिन आपसी रंजिश की वजह से गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई आज हम आपको सिद्धू मुसे वाला बायोग्राफी (Sidhu Moose Wala Biography In Hindi) के बारे में डिटेल में जानकारी देने का प्रयास करेंगे।

सिद्धू मूसे वाला का जीवन परिचय: Sidhu Moose Wala Biography In Hindi

Sidhu Moose Wala Biography In Hindi

भारत के लोकप्रिय पंजाबी सिंगर के रूप में पहचाने जाने वाले सिद्दू मूसे वाला का जन्म 11 जून 1993 को पंजाब के मानसा जिले के मूसे वाला गांव में हुआ था। मूसे वाला गांव के रहने वाले सिद्धू जिनके नाम के पीछे भी अपने गांव का नाम मूसे वाला उपनयन के तौर पर लगा दिया था और इसी नाम से उन्हें पहचाना जाता था सिद्धू मूसे वाले का पूरा नाम सुखदीप सिंह सिद्धू था। लेकिन सभी लोग इनको सिद्धू मूसे वाला के नाम से पहचानते थे।

इन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा मनसा जिले में रहते हुए की थी और उच्च शिक्षा के लिए गुरु नानक देव इंजीनियरिंग कॉलेज लुधियाना में प्रवेश लेकर वहां से अपनी आगे की पढ़ाई को सुचारू रखते हुए 2016 में इलेक्ट्रिक इंजीनियरिंग में बीटेक की डिग्री हासिल कर ली थी। सिधु मुसेवाला जिनको बचपन से ही सिंगर बनने का शौक था शुरुआत में दर-दर की ठोकरें खाते फिर रहे थे। लेकिन किसी ने उन्हें गाने के लिए कोई काम नहीं दिया। छोटे मोटे स्कूल और कॉलेज के प्रोग्राम के माध्यम से सिद्धूमूसेवाला ने अपने टैलेंट को बाहर निकालने का प्रयास किया।

कॉलेज में इस्कूल में छोटे छोटे प्रोग्राम में भाग लेकर इन्होंने अपना कॉन्फिडेंस भी बढ़ाया। सिद्दू मूसे वाला बचपन से ही रेपर शकूर से बहुत ज्यादा प्रभावित है और उन्होंने छठी कक्षा में हिप हॉप संगीत में रुचि लेना शुरू कर दिया था। पढ़ाई के साथ-साथ इनके संगीत की रूचि इन को सफल बनाने में मददगार साबित हुई लुधियाना के हरविंदर बिट्टू से संगीत कौशल इन्होंने सीखा था और उसके पश्चात उन्होंने अपने करियर की शुरुआत की थी।

सिद्दू मूसे वाला बायोग्राफी

  • नाम: सिद्धू
  • पूरा नाम: सिद्धू मूसे वाला
  • असली नाम: शुभदीप सिंह सिद्धू
  • जन्म तारीख:11 जून 1993
  • उम्र:29 वर्ष
  • जन्म स्थान: गांव मूसा वाला, मनसा, पंजाब, भारत
  • शिक्षा: इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिग्री
  • पेशा: गायक
  • नागरिकता: भारतीय
  • जाति: जाट
  • धर्म: हिंदू

सिद्दू मूसे वाला ने अपने करियर की शुरुआत भजन गायक के रूप में की थी इन्होंने ब्राउन बॉयज के साथ कई ट्रैक पर काम किया और उन्होंने कनाडा के लाइव शो में भी काम किया 2018 में भारत आने के बाद पंजाबी म्यूजिक इंडस्ट्री महीना में काम करना शुरू किया था। दुनिया भर में सफलता हासिल करने वाले सिद्दू मूसे वाला का पहला एल्बम pbx1 जारी हुआ था। जो बिलबोर्ड कनाडाई एल्बम चार्ट पर 66 वें नंबर पर पहुंच गया था। स्वतंत्र रूप से गाने में अपनी रुचि दिखाते हुए अपने करियर को आगे बढ़ाने वाले सिधु मूसे वाले ने अपने जीवन में शुरुआत में बहुत समस्याओं का सामना किया था उसके बाद उनको सफलताएं मिलना शुरू हुई।

सिद्धू मूस वाला का करियर

Sidhu Moose Wala Biography In Hindi

सिद्धू मुझसे वाले के करियर के बारे में बात की जाए तो सिद्धू मुझसे वाले का कैरियर साल 2016 में शुरू हुआ गाने का लाइसेंस मिलने के बाद उन्होंने गीत लिखकर एक गीतकार के रूप में अपने आप को पेश किया पंजाब गायक निंजा ने गाया था। सिद्धू मूसे वाला का पहला गाना तुरंत सुपरहिट हो गया और वहां से सिद्धू मुसे वाले को लोकप्रियता मिलती गई और आगे भी सिधु मुसेवाला अपने करियर पर ध्यान देते हुए काम करते गए।

पहला गाना सुपरहिट होने के बाद 2017 में इन्होंने झंडू, एली मंगत, करण औजला के साथ काम किया और यहां इनका एक पंजाबी गीत “जी वैगन” के गायन की शुरुआत की थी। यह गाना बहुत ज्यादा सुपर डुपर रहा था।

इन्होंने अपने आवाज के दम पर अपने गानों को लोकप्रिय करवाया है। इनके लोकप्रिय गाने आज भी दुनिया में धूम मचा रहे हैं।

सिद्धू मूसे वाला का राजनीति

Sidhu-moose-wala जब तक सिंगर के रूप में अपने करियर पर ध्यान दे रहे थे। तब उन्हें कोई भी खतरा नहीं था लेकिन राजनीति में कदम रखते ही उन पर खतरा मंडराने लगा और उनकी हत्या भी राजनीतिक करियर की वजह से ही हुई है। ऐसा बताया जा रहा है, कि राजनीतिक कैरियर में आने के बाद कई प्रकार की समस्या सिद्दू मूसे वाला को आने शुरू हो गई थी 3 दिसंबर 2021 को सुजीत मुझे वाला मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू की उपस्थिति में राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे। सिद्धू मुसे वाले के राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी में शामिल होने के कुछ ही महीनों बाद उनकी हत्या कर दी गई हत्या की जांच पड़ताल अभी भी चल रही है।

पंजाबी सिंगर सिद्धू मुसे वाले की हत्या

Sidhu Moose Wala Biography In Hindi

पंजाबी सिंगर सिद्धू मुझसे वाले की हत्या में कई प्रकार की अंग्रेजी राइफल का प्रयोग किया गया था जिसमें AN94 रूसी असाल्ट राइफल शामिल थी। ऐसा बताया जा रहा है, कि पंजाबी सिंगर सिदु मुसेवाला की हत्या करने के लिए करीब 8 से 10 लोगों ने पहले से ही पूरी योजना बनाई थी और उसके बाद इस हत्या को अंजाम दिया हत्या के वक्त एक चश्मदीद सामने आ गया है।

यह सच हमने के वक्त वहां मौजूद था और उसने सिद्दू मूसे वाला को गाड़ी से बाहर खींच लिया। मेसी नाम के इस शख्स ने दावा किया है कि जब सिद्दू मूसे वाला को उन्होंने गाड़ी से बाहर खींचा था तब तक सिधु मुसेवाला जिंदा था हमलावरों ने सिद्धू मूसे वालों को गोली मारी और सबसे पहले मौके पर पहुंचे मेसी ने बताया कि सिद्धू मूसे वाला के साथ कार ने दो और लोग बैठे थे।

सिधु मुसेवाला की गाड़ी के ऊपर 30 से अधिक राउंड फायरिंग की गई थी और इसी फायरिंग के दौरान सिद्दू मूसे वाला 29 मई को अपने घर से कुछ किलोमीटर दूर मनसा जिले में मारे गए। पुलिस वर्तमान समय में भी सिद्दू मूसे वाला मर्डर केस की छानबीन कर रही है लेकिन पुलिस का अंदाजा है कि यह आपकी दुश्मनी की वजह से हुआ है।

सिद्धू मूसे वाले को मारने की सुपारी किसने दी थी इसके बारे में तो अभी पता नहीं चला है। लेकिन लॉरेंस बिश्नोई गैंग के लकी नाम के बंदे ने मुसेवाला को मारने की सुपारी ली है इस बारे में खुलासा हो चुका है।

निष्कर्ष

सिद्धू मूसे वाला के गाने लोगों को आज भी बहुत ज्यादा पसंद है लोग सिद्धू मुझसे वाले के गानों को एक उत्साह बढ़ाने के लिए सुना करते हैं। क्योंकि उनके गानों में इतना जोश भरा होता था। कि इन के गानों को सुनकर हर कोई उत्साहित हो जाता था। आज के आर्टिकल में हमने आपको Sidhu Moose Wala Biography In Hindi के बारे में डिटेल में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी।